कृषि खबर

सरकार खुले बाजार में बिक्री के लिए जारी करेगी 50 हज़ार टन प्याज

पिछले रिकॉर्ड को तोड़ते हुए केंद्र ने वर्ष 2022-23 में बफर के लिए 2.50 लाख टन प्याज की खरीद की है। चालू वर्ष में प्याज का बफर स्टॉक वर्ष 2021-22 के दौरान बनाए गए 2.0 लाख टन से 0.50 लाख टन अधिक है। मूल्य स्थिरीकरण बफर के लिए रबी फसल से प्याज की खरीद की गई।

खुले बाजार में बिक्री के लिए 50 हजार टन प्याज जारी करेगी सरकार

यह स्टॉक भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ (NAFED) द्वारा किसानों से महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश के रबी प्याज उत्पादक राज्यों में किसान उत्पादक संगठनों (FPO) के माध्यम से खरीदा गया है।

यह स्टॉक (0.50 लाख टन) चयनित खुले बाजार में बिक्री के लिए जारी किया जाएगा और कम उपलब्धता वाले महीनों (अगस्त-दिसंबर) के दौरान मूल्य वृद्धि के दौरान खुदरा दुकानों के लिए राज्य सरकार की एजेंसियों को भी उपलब्ध कराया जाएगा। खुले बाजार में प्याज की रिहाई का लक्ष्य उन राज्यों/शहरों को लक्षित किया जाएगा जहां कीमतें पिछले महीने की तुलना में बढ़ रही हैं और प्रमुख मंडियों में भी समग्र उपलब्धता बढ़ाने के लिए।

यह मूल्य स्थिरीकरण बफर किसानों को लाभकारी मूल्य प्रदान करने और उपभोक्ताओं को सस्ती कीमतों पर प्याज की उपलब्धता बढ़ाने के दोहरे उद्देश्यों की पूर्ति करता है। अप्रैल-जून के दौरान रबी प्याज की कटाई भारत के प्याज उत्पादन का 65 प्रतिशत है और अक्टूबर-नवंबर से खरीफ फसल की कटाई तक उपभोक्ताओं की मांग को पूरा करती है। इसलिए, नियमित आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए प्याज का सफलतापूर्वक भंडारण करना महत्वपूर्ण है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: